शिमला की टनेल नो 33 जहा आज भी घूमते है रोहानी ताकाते !!!

शिमला की टनेल नो 33 जहा आज भी घूमते है रोहानी ताकाते 

By Pritam Ghosh | Updated: Thursday, November 7, 2019,

वैसे तो अगर हिमाचल प्रदेश की बात करे तो येह पे ऐसे बहुत से कौफ्नाक स्टेशन और भुतिया जगह है|आज  के हमारे हिमाचल प्रदेश की सबसे भुतिया जगह की लिस्ट में आज  हम बात करेंगे हिमाचल प्रदेश की सबसे खतरनाक और भुतिया कहे जाने वाले टनेल नो 33 के बारे में,जहा आज  भी मजूद है रोहानी ताकाते ,इस टनेल की बात करे तो इस टनेल के बारे में कहा जाता है की रात होती ही इस टनेल में आ जाते है दूसरी दुनिया के लोग तो अज चलिए जानते है इस टनेल के बारे में 


शिमला की टनेल नो 33 जहा अज भी घूमते है रोहानी ताकाते
शिमला की टनेल नो 33 जहा अज भी घूमते है रोहानी ताकाते 
शिमला के बरोग रेलवे स्टेशन से थोरी ही दूर पे है शिमला की सबसे भुतिया  जगह कहे जाने वाले  बरोग टनेल जिसे स्तानियो लोग के भाषामें कहा जाता है टनेल नंबर 33|1143.61 मीटर लंबी यह टनेल दुनिया की सबसे सीधी टनेल मणि जाती है,इस टनेल का निर्माण 20 बी सताब्दी के दौरान ब्रिटिशो ने बनबाया था.

कर्नल बरोग ने की थी यह पे खुदकुशी 

तत्कालीन ब्रिटिश सरकार ने इस टनेल को बनाने की ज़िम्मेदारी सोपी थी कर्नल बरोग नाम के अपने ही एक ब्रिटिश इंजिनियर को .तो हुआ यह की कर्नल बरोग ने इस टनेल को बनाने के लिए एक योजना बनाई,और यह योजना यह थी की इस टनेल को बनाने के लिए पहर के दोनों तरफ से खुदाई की जाएगी और ऐसा करते करते दोनों तरफ से टनेल एक जगह आके आपस में मिल जायेंगे .लेकिन बदकिस्मती से ऐसा नहीं हुआ इसकी वजा से ब्रित्तिश सरकार का बहुत सा पैसा खर्च हो चोका था इस लिए ब्रिटिश सरकार ने कर्नल बरोग को 1 रूपए का जुर्मना लगाया और तो और उनके मजदूरों ने भी उनको बहुत बाते सुने.कहते है फिर एक दिन सुबह बरोग अपने कुत्ते को लेकर टहलने के लिए गए थे और उसी टनेल के पास उसने अपने आपको गोली मरकर ख़ुदकुशी कर लिए थे. इस हादसे के बाद इस टनेल का काम बंद हो गया फिर सन 1900 में सरकार ने फिर एक बार इस टनेल का काम सुरों किया और इस बार इस काम की ज़िम्मेदारी दी गए ह.स harlington के नाम के एक इंजिनियर को फिर सन 1903 में इस टनेल का काम पूरा हो गया और इस काम को पूरा करने में उनकी मदद की थी भालको नाम के एक संत  ने और फिर तत्कालीन ब्रिटिश सरकार ने  इस टनेल का नाम रखा गया बरोग टनेल .

शिमला की टनेल नो 33 जहा अज भी घूमते है रोहानी ताकाते
शिमला की टनेल नो 33 जहा अज भी घूमते है रोहानी ताकाते 

आज भी घुमती है इंजिनियर की आत्मा 

कहते आज भी उस टनेल में कर्नल बरोग की आत्मा भटकती है ,जिस वजा से लोगो ने रात होते ही इस टनेल के पास कोई नहीं जाता ,कहते है इस टनेल के अन्दर थोरी ही दूर जाते ही आपको एक सुरंग देखाई देगी ,कहते है इस सुरंग के पास अजीबो गरीब आवाजे सुनी जा सकती  है .वैसे तो यह टनेल आज बंद है सरकार की तरफ से इसको बंद किया जा चूका है और एक लोहे का दरवाजा भी लगाया गया था लेकिन सबसे खतरनाक बात यह है की एकदिन इस दरवाजे की ताला टूटा पाया गया जिसके बाद फिर से कभी इस पे कभी ताला नहीं लगाया गया .


11 comments:

  1. Yaar tumhari har article bahut acche hote hai

    ReplyDelete
  2. में तो यह पे एक बार जाना है

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी एक बार जरूर जाये

      Delete
  3. Sir bhangarh ke upar kuch likhiye na

    ReplyDelete
  4. Sir my name is ishita patel and i want to work with you
    Sir pls reply

    ReplyDelete
    Replies
    1. Ishita aap hum logo ko join kar shakte.contact page pe jake hum se sampark kare

      Delete

Powered by Blogger.